New Breaking News

Post Top Ad google

Your Ad Spot

गुरुवार, 3 जनवरी 2019

Motivational story in Hindi। तुम इंसान नहीं हाथी हो हाथी

                       Motivational story in Hindi। तुम इंसान नहीं हाथी हो हाथी
Motivational story in Hindi। तुम इंसान नहीं हाथी हो हाथी
Motivational story in Hindi। तुम इंसान नहीं हाथी हो हाथी

मै जीउत राय अाप सभी के लिए एक और प्रेरणादयक कहानी लाया हूं जो कि बिल्कुल हट कर है सायद पढ़ने से आपकी जिंदगी बादल जाए । चलिए शुरू करते है।
 आप हाथी नहीं इंसान हैं ! एक आदमी कहीं से गुजर रहा था| तभी उसने सड़क के किनारे बंधे हाथियों को देखा, और अचानक रुक गया|

 उसने देखा कि हाथियों के अगले पैर में एक रस्सी बंधी हुई है| उसे इस बात का बड़ा अचरज हुआ की हाथी जैसे विशालकाय जीव लोहे की जंजीरों की जगह बस एक छोटी सी रस्सी से बंधे हुए हैं! ये स्पष्ठ था कि हाथी जब चाहते तब अपने बंधन तोड़ कर कहीं भी जा सकते थे, पर किसी वजह से वो ऐसा नहीं कर रहे थे|

 उसने पास खड़े महावत से पूछा कि भला ये हाथी किस प्रकार इतनी शांति से खड़े हैं और भागने का प्रयास नही कर रहे हैं ? तब महावत ने कहा, ” इन हाथियों को छोटे पर से ही इन रस्सियों से बाँधा जाता है| उस समय इनके पास इतनी शक्ति नहीं होती की इस बंधन को तोड़ सकें|

 बार-बार प्रयास करने पर भी रस्सी ना तोड़ पाने के कारण उन्हें धीरे-धीरे यकीन होता जाता है कि वो इन रस्सियों को नहीं तोड़ सकते, और बड़े होने पर भी उनका ये यकीन बना रहता है| इसलिए वो कभी इसे तोड़ने का प्रयास ही नहीं करते|” आदमी आश्चर्य में पड़ गया कि ये ताकतवर जानवर सिर्फ इसलिए अपना बंधन नहीं तोड़ सकते क्योंकि वो इस बात में यकीन करते हैं!!

 इन हाथियों की तरह ही हममें से कितने लोग सिर्फ पहले मिली असफलता के कारण ये मान बैठते हैं कि अब हमसे ये काम हो ही नहीं सकता और अपनी ही बनायीं हुई मानसिक जंजीरों में जकड़े-जकड़े पूरा जीवन गुजार देते हैं| याद रखिये असफलता जीवन का एक हिस्सा है , और निरंतर प्रयास करने से ही सफलता मिलती है|

यदि आप भी ऐसे किसी बंधन में बंधें हैं जो आपको अपने सपने सच करने से रोक रहा है तो उसे तोड़ डालिए… आप हाथी नहीं इंसान हैं|

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Top Ad goggle

Your Ad Spot

My Website Pages